Must See Places भारत के अविश्वसनीय पर्यटन स्थल

भारत में प्राकृतिक विभिन्नताओं की कमी नहीं है। भारत में ऐसी बहुत से प्राकृतिक आकर्षण है जहाँ जीवन में एक बार तो अवश्य जाना चाहिए। भारत की इन यादो को अपने जीवन में समेटना एक बहुत ही सुन्दर एहसास है हम यहाँ भारत के कुछ ऐसे ही  मनोरम, मन को सन्ति देने वाले दृश्य की बाते करेंगे।

ब्रम्हपुत्र नदी पर सूर्यास्त

Sunset-On-River-Brahmaputra

ब्रह्मपुत्र नदी पूर्वोत्तर भारत की प्रमुख नदियों में से एक है, यह तिब्बत से शुरू होती है और अरुणाचल तथा असम की घाटियों से होकर बहती हुई बंगाल की खाड़ी में जाकर  गिर जाती हैं। इस दौरान यह नदी 2,900 किलोमीटर लंबी की दूरी तय करती है! ब्रह्मपुत्र नदी पर जब सूर्यास्त होता है तो यह दृश्य बड़ा ही मनोरम होता है, काले बादल,खुला आकाश और सूरज की किरणों की परछाई जब नदी के पानी पर पड़ती है तो मानो ऐसा लगता है जैसे ये सब नदी पर एक साथ पानी में अटखेलिया कर रहे हो। ब्रह्मपुत्र नदी पर सूर्यास्त,पूर्वोत्तर भारत का एक सबसे अच्छा प्राकृतिक आकर्षण है। यह दृश्य जीवन की न भूलने वाली यादो में शामिल हो जाता है।

हिमालय की बर्फीली झीलें

Frozen-lakes-at-Tawang

हिमालय पर्वत ,जम्मू से लेकर अरुणाचल तक फैला हुआ है इसकी लंबी पर्वत शृंखला अपने साथ -साथ सैकड़ों खूबसुरत झीलों को शामिल किये हुए हैं। अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम की गुरुदोंमर झील और श्रीनगर की  विश्व प्रसिद्ध डल झील भारत की बर्फीली झीलो का सबसे अच्छा उदाहरण है ये झीले हिमालय की सुंदरता को अपने आप मे समेटे हुए है!

लक्षद्वीप के सुन्दर द्वीप

Islands-of-lakshadweep

भारत का सबसे छोटा केंद्र शासित प्रदेश लक्ष्यद्वीप असल मे बहुत सारे द्वीपो का समूह हैं। लक्षद्वीप के इन समूह में सागर एवं मूंगा चट्टान प्रमुख आकर्षण हैं। लक्षद्वीप द्वीप स्कूबा डाइविंग और स्नोर्कलिंग जैसे रोमांच के खेल के लिए प्रसिद्ध हैं। लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह भारत में सागर के अनमोल रत्न हैं।

पश्चिमी घाट के प्राकृतिक सौंदर्य

Nature-at-western-ghats

पश्चिमी घाट,सहयाद्री पर्वत श्रृंखला का ही भाग है यह भारत का पश्चिमी तट गुजरात से लेकर के कन्याकुमारी तक फैला हुआ है। पश्चिमी घाट कई अनदेखी  प्रजातियों ,वनस्पतियों और जीव-जंतुओ की विविधता के लिए प्रसिद्ध है! भारत का पश्चिमी घाट जैव विविधता का एक जीता जगता नमूना और भारत के पश्चिमी घाट को यूनेस्को की विश्व विरासत स्थल में भी शामिल किया गया है यह सबसे ऊँची पर्वत चोटी, झील, जलाशयों,झरने और प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है।

वाराणसी के घाट

Ghats-of-Varanasi

उत्तर प्रदेश में पवित्र गंगा नदी के किनारे बसा बनारस (वाराणसी – काशी ) भारत के सबसे पुराने शहरो में से एक है। हिन्दू वाराणसी शहर को पवित्र शहर के रूप में मानते है. वाराणसी को भारत में मंदिरो के शहर रूप में भी जाना जाता है। यहाँ पर गंगा नदी के किनारे स्नान और अंतिम संस्कार किया जाता है यहाँ के घाट, भारत के विश्व विरासत स्थलो में से एक हैं।

सुंदरवन के सदाबहार वन

Mangrove-Forest-Sundarban

सुंदरवन के सदाबहार वन दुनिया का सबसे बड़ा ज्वारीय वन है, पश्चिम बंगाल में सुंदरवन डेल्टा में स्थित हैं। सुंदरवन क्षेत्र एक यूनेस्को विश्व विरासत स्थल है और बंगाल के बाघो की एक बड़ी संख्या के लिए प्रसिद्ध है! सुंदरवन बंगाल की खाड़ी पर गंगा डेल्टा द्वारा बनाया गया सबसे अच्छे प्राकृतिक आकर्षण हैं!

लद्दाख के झीलो की झिलमिलाहट

Pangong-tso-lake-Ladakh

लद्दाख 4,350 मीटर की ऊंचाई पर स्थित एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ विस्व की सबसे शानदार झीले स्थित है। लद्दाख की ये झीले दिन के हर अगले एक घंटे में रूप मे परिवर्तन करती है और शाम के दौरान सबसे सुंदर दिखाई देती हैं। पांगोंग त्सो, मोरीरी झील के साथ लद्दाख के सबसे खूबसूरत उच्च ऊंचाई झीलों में से एक है। सूर्य के प्रकाश के कारण झीलों के पानी पर नीला आसमान एक झिलमिलाता प्रतिबिंब बनाता है जो पृथ्वी पर सितारों की तरह लगता है।

शिलांग के विस्मयकारी झरने

Nohkalikai-falls-Meghalaya

मेघालय राज्य पृथ्वी पर सबसे अधिक वार्षिक वर्षा प्राप्त करता है एवं मौसिनराम पूर्वी खासी हिल्स मे स्थित गांव है जो  पृथ्वी पर नम जगह के रूप में जाना जाता! शिलांग मे भारत के सबसे बड़े एवं विस्मयकारी झरने है नोहकालिकाई,सात बहने एवं लंगशियांग जल प्रपात।

कान्हा उद्यान के वन्य जीव

Kanha-National-Park

कान्हा राष्ट्रीय उद्यान भारत के मध्य प्रदेश नामक राज्य मे स्थित है। यह टाइगर रिजर्व मध्य भारत का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान है। कान्हा राष्ट्रीय उद्यान जंगली जीवन में बहुत अमीर हैं और ज्यादातर घने बांस और साल वनों से आच्छादित है। यह भारतीय जंगली कुत्तों के साथ बाघो और भारतीय तेंदुओं की महत्वपूर्ण आबादी के लिए प्रसिद्ध है।

थार रेगिस्तान की रात

Night-at-Thar-Desert

थार रेगिस्तान एक अद्भुत एवं विस्मयकारी स्थान है, यह अरावली पर्वत श्रृंखला और कच्छ के रण से घिरा हुआ है। थार रेगिस्तान भारत के कुछ सबसे अच्छे अनुभवो में से एक प्रदान करता है, इस रेगिस्तान मे वन्य जीव भी रहते है जैसे की रेगिस्तानी लोमड़ी, सॅप एवं पक्षी।

केरल के अप्रवाही जल

Backwaters-of-Kerala

केरल के अप्रवाही जल वास्तव मे अरेबियन सागर के पीछे के झील एवं तालाब है जो पूरे केरल राज्य मे फैले हुए है. केरल के अप्रवाही झील एवं तालाब जलीय जानवरों और पक्षियों की अनोखी प्रजातियों का घर है जो की क़ेरल के प्रमुख आकर्षणों में से एक हैं।

गोवा के मोहक समुद्रिय तट

Beaches-of-Goa

गोवा अपने मोहक समुद्रिय तटों एवं स्वतंत्रता के लिए दुनिया में जाना जाता है, यह भारत का सबसे छोटा राज्य है लेकिन पर्यटन के क्षेत्र में बहुत अमीर है! सफेद रेत के अलावा, गोवा पश्चिमी घाट की श्रृंखला के साथ साथ समृद्ध वनस्पति और जीव जन्तुओ के लिए भी प्रसिद्ध है।

मनाली के बर्फ से ढके पर्वत

Snow-Peaks-Manali

मनाली देश का सबसे अच्छा बर्फ एवं लोकप्रिय स्थान , यह बर्फ के कुछ रोमांचकारी खेलों की मेजबानी भी करता है! हिमाचल अपने बर्फ से ढके पहाड़ों, चोटियों और झीलों के साथ गहरी घाटियों की श्रृंखला के लिए भी जाना जाता है।

 उत्तर-पूर्व प्रदेश के वन

Dense-Forest-North-East

भारत के कुल 25 प्रतिशत वन उत्तर-पूर्व राज्यों मे स्थित है, इन घने और अंधेरे जंगलो मे विस्व के कुछ अतयन्त विस्मयकारी एवं अनोखे जीव एवं पक्षी रहते है जैसे की 7 प्रमुख बंदर, 8 बड़ी बिल्लियो की प्रजातियों तथा पौधों की लुप्तप्राय प्रजातिया।

भुवनेश्वर शहर के मंदिर

City-of-Temples-Bhubaneswar

भुवनेश्वर को मंदिरो के शहर के रूप में भी जाना जाता है, सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से कुछ मुक्तेश्वर मंदिर, दुलदेवी मंदिर, कोणार्क सूर्य मंदिर और लिंगराज मंदिर है! यह भारतीय राज्य उड़ीसा की राजधानी है तथा भारत साफ और हरे-भरे शहरो में से एक है।

उत्तराखंड की फूलों की घाटी

Trek-to-Valley-Of-Flowers

उत्तराखंड की फूलों की घाटी भारत के एक सबसे अच्छे प्राकृतिक स्थलो मे से है, यह वनस्पतियों और अल्पाइन फूलों की विविधता एवं घास के मैदान की लंबी कालीन के लिए भी जाना जाता है. फूलों की घाटी के राष्ट्रीय उद्यान भी है जो की हिमालय के जीव जंतुओ का घर भी है।

कोडाइकनाल की शांत पहाड़ी

Tranquil Hills of Kodaikanal

कोडाइकनाल तमिलनाडु में पलानी पहाड़ी में डिंडीगुल जिले में स्थित जंगल का एक उपहार  जो अपने घने जंगलों, झरना, सुंदर घास के मैदान और स्तंभ चट्टानों के लिए प्रसिद्ध हैं। कोडाइकनाल को इन प्राकृतिक पहाड़ो एवं स्तंभ चट्टानों के कारण पहाड़ो की राजकुमारी के रूप में जाना जाता है।

पूर्वी घाट कीअरकू घाटी

Araku Valley-of-eastern-ghats

अति सुंदर अरकू घाटी आंध्र प्रदेश का एक हिल स्टेशन है जो की विभिन्न जनजातियों तथा कॉफ़ी के बागानो के लिए प्रसिद्ध हैं। यह पूर्वी घाट का सबसे खूबसूरत हिस्सा और आंध्र प्रदेश मे ज़रूर देखने लायक स्थानो मे से एक है।

कन्याकुमारी में समुद्र के रंग

Colors-on-the-sea-of-Kanyakumari

कन्याकुमारी दुनिया मे ऐसा स्थान है जहा तीन बड़े महासागरो का मिलन होता है, यह मिलन इतना विस्मकारी है की आप तीनो समुद्रो के पानी का रंग अलग अलग देख सकते है.
मौसम और सूर्य के स्थान परिवर्तन के साथ साथ इन तीन समुद्र के रंगो मे भी तदनुसार परिवर्तन मिलता है।

दार्जिलिंग के चाय के बागान

Darjeeling-tea-Gardens

दार्जिलिंग को पहाड़ों की रानी के नाम से भी जाना जाता है, यह बंगाल राज्य के पूर्वी भारत में महान हिमालय की तलहटी में स्थित है। दार्जिलिंग की चाय अपने स्वाद और गुणवत्ता के लिए प्रसिद्ध है।

असम के माजुली नदी का द्वीप

Majuli-Island-Assam

असम का यह नदी का द्वीप दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप है जो की ब्रह्मपुत्र नदी द्वारा बनाया गया है! यह जलमयभूमि का टुकड़ा पक्षी प्रेमियो के लिए स्वर्ग है! माजुली नदी का द्वीप भारत के कुछ विस्मयकारी एवम प्राकृतिक स्थलो मे से एक है।

कच्छ का सफेद रण

Salt-Desert-Rann-of-Kutch

कच्छ का रण एक मौसमी नमक का रेगिस्तान है जो दुनिया में सबसे बड़े नमक के रेगिस्तान में से एक है. यह गुजरात के कच्छ जिले में थार रेगिस्तान में स्थित है तथा यह क्षेत्र भारत के सबसे गर्म क्षेत्रों में से एक है।

मुन्नार का आनामूडी शिखर

Anamudi-peak

अनमूडी शिखर भारतीय राज्य केरल में स्थित है, यह 2,695 मीटर उँचा शिखर पश्चिमी घाट और दक्षिण भारत में सबसे ऊंची चोटी है अनमूडी शिखर लंबी पैदल यात्रा अभियान के लिए प्रसिद्ध है तथा आनामूडी हिमालय पर्वत श्रृंखला से बाहर भारत की सबसे ऊंची चोटी है।

लद्दाख के पर्वतीय दर्रे

Khardung-La-Pass

लद्दाख को पर्वतीय दर्रों की भूमि के नाम से भी जाना जाता है, यह उत्तर भारत का एक सबसे बड़ा पर्यटन स्थल है जॅहा से दुनिया का सबसे उँचा रोड गुजरता है जिसे खरडुंग ला पास के नामे से जाना जाता है!

कुद्रेमुख के शोला घास के मैदान

Shola-Forest-Nilgiri

कुद्रेमुख के शोला घास के मैदान और जंगल कुद्रेमुख राष्ट्रीय उद्यान का हिस्सा है, यह एक पहाड़ की चोटी जो कर्नाटक के मुल्लायांगिरी और बाबा बुदंगिरी के बाद तीसरी सबसे ऊंची चोटी है! कुद्रेमुख राष्ट्रीय उद्यान मलाबार सीवेट, भारतीय जंगली कुत्ते,काले भालू एवम चीतल का घर है।

ओडिशा की चिल्का झील

chilka-lake

चिल्का झील भारत के पूर्वी तट पर स्थित है, यह भारत की सबसे बड़ी और दुनिया में दूसरी सबसे बड़ी तटीय झील है। यह भारतीय उप- महाद्वीप पर प्रवासी पक्षियों के लिए स्वर्ग है, जैसे की जलपक्षी,शिकारी पक्षी तथा अन्य लंबे पैरो वाले बड़े पक्षी.

अंडमान की प्रवाल भित्तिया

Coral-Reef-Lakshadweep

अंडमान एवम लक्षद्वीप की प्रवाल भित्तिया हमारे भारत की राष्‍ट्रीय धरोहर है,अंडमान का हॅवलॉक द्वीप एक सुंदर सफेद रेतीले समुद्र तटों के साथ-साथ, प्रवाल भित्तियों और हरे भरे जंगल का एक सुरम्य प्राकृतिक स्वर्ग है

नीलगिरि के नीले पहाड़

Nilgiri-Hill-Ranges

नीलगिरि के नीले पहाड़ तमिलनाडु के पश्चिमी भाग में स्थित पश्चिमी घाट का एक हिस्सा है जो क़ि कर्नाटक और केरल राज्यों के सीमा पर स्थित है! यह नीलगिरि बाइयोस्फियर रिज़र्व का एक भू-भाग है जॅहा पर भारत के कुछ बहुत ही लुप्तप्राय जीव रहते है जैसे कि नीलगिरि तहर, नीलगिरि लंगूर एवम नीलगिरी कबूतर.