30 Durga Temples in India – प्रसिद्ध दुर्गा मंदिर

जैकारा शेरावाली का बोल सच्चे दरबार की जय!

भारत देश में देवी माँ के अनंत मंदिर हैं, माँ दुर्गा और उनके कई रूप उनमें से प्रमुख देवी हैं। दुर्गा माँ के कई प्रसिद्ध मंदिर देश के विभिन्न भागों में स्थित है यहां देवी दुर्गा के 30 प्रसिद्ध मंदिरों के अलावा भारत के कुछ और माँ दुर्गा मंदिरों की सूची है, आइए जानते है!

वैष्णो देवी मंदिर, जम्मू और कश्मीर

भारत में विश्व प्रसिद्ध और सबसे धार्मिक तीर्थ स्थल, वैष्णो देवी का मंदिर जो राज्य जम्मू और कश्मीर की त्रिकुटा पहाड़ियों पर 5300 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। माता वैष्णो देवी का पवित्र मंदिर एक पहाड़ी के अंदर गुफा में स्थित है, यह सबसे पवित्र हिंदू तीर्थ स्थल में से एक है!

शारदा माता मंदिर, मध्य प्रदेश

मैहर वाली शारदा माता का मंदिर भारत के दिल कहे जाने वाले राज्य मध्य प्रदेश में मैहर की त्रिकुटा पहाड़ी पर स्थित है। यह एक बहुत ही पवित्र मंदिर है और देवी 51 शक्ति पीठों में से भी एक है, जहां माता सती का हार गिरा था।

बीजसन देवी, सलकनपुर

मध्य प्रदेश मे माता रानी के कुछ और भी बहुत लोकप्रिय मंदिर है जैसे की बीजसन देवी सलकनपुर, यह मंदिर और इमारत क्योंकि एक पहाड़ी पर बनी है, आप पहाड़ों के दृश्यों का आनंद ले सकते हैं!

मध्य प्रदेश के चार प्रमुख देवी मंदिरो की सूची मे देवास में स्थित माँ तुलजा और माँ चामुंडा का मंदिर, दतिया में स्थित शक्तिपीठ जिसे पीतांबरापीठ कहा जाता है और रतनगढ़ वाली माता का मंदिर है जो मध्य प्रदेश के दतिया जिले से लगभग 60 किलोमीटर दूर रतनगढ़ मे स्थित है!

कनक दुर्गा मंदिर, आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में स्थित देवी कनक दुर्गा का प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है, कनक दुर्गा मंदिर, देवी कनक दुर्गेश्वरी को समर्पित है, जो कृष्णा नदी के तट पर इंद्रकीलाद्री पर्वत की एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। यह आंध्र प्रदेश में सबसे महत्वपूर्ण माता का मंदिर है।

Jai_Maa_Durga

अंबाजी मंदिर, गुजरात

अंबाजी माता का मंदिर गुजरात के बनासकांठा जिले में प्रसिद्ध हिल स्टेशन माउंट आबू के पास स्थित है। अंबाजी मंदिर 51 शक्ति पीठों में से एक है और महत्वपूर्ण हिंदू मंदिरों में से एक है। यह मंदिर गुजरात में मां अंबा माता और प्रसिद्ध धार्मिक स्थल को समर्पित है। अंबाजी माँ मंदिर पवित्रतम तीर्थस्थानों में से एक है और भारत का एक प्रमुख शक्ति पीठ है।

कालिका माता मंदिर, पावागढ़

चंपानेर-पावागढ़ पुरातत्व पार्क के साथ भारत के पंचमहल जिले के पावागढ़ पहाड़ी के शिखर पर हिंदू देवी मंदिर परिसर और तीर्थस्थल है जो माता कालिका को समर्पित है और मंदिर में देवी की तीन छवियां हैं!

चामुंडेश्वरी मंदिर, कर्नाटक

चामुंडेश्वरी मंदिर कर्नाटक राज्य में मैसूर में चामुंडी हिल्स की ऊंचाइयों पर स्थित है। चामुंडेश्वरी मंदिर एक बड़ा धार्मिक मंदिर माना जाता है, जिसमें बड़े-बड़े चांदी के द्वार और सुनहरी मूर्तियाँ हैं। चामुंडी हिल्स मैसूर के सबसे अच्छे पर्यटक आकर्षणों में से एक है।

दुर्गा परमेश्वरी मंदिर, कटील

भारतीय राज्य कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में मंदिर वाला यह शहर जिसे भारत के सबसे पवित्र हिंदू मंदिरो वाला माना जाता है नंदिनी नदी के तट पर स्थित है। देवी दुर्गा परमेश्वरी से आशीर्वाद लेने के लिए हजारों भक्त प्रतिदिन कटेल जाते हैं।

तारा देवी मंदिर, हिमाचल प्रदेश

तारा देवी माता का मंदिर हिमाचल प्रदेश के शिमला में तारा देवी पर्वत नामक एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। यह प्रसिद्ध मंदिर शहर के सबसे लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण में से एक है, जो हरे भरे देवदार के पेड़ों, हरे जंगलों और हरे घास के मैदान से घिरा हुआ है।

नैना देवी मंदिर, बिलासपुर

नैना देवी मंदिर एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है जो हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में है। पहाड़ी शीर्ष मंदिर माँ नैना देवी को समर्पित है, जो माँ शक्ति का रूप है और 51 शक्तिपीठों में से एक भी मानी जाती है। नैना देवी मंदिर का निर्माण जहां माता सती की आंखें गिरी थीं, वह स्थान हिंदूओं के लिए एक पवित्र स्थान है।

ज्वालाजी देवी मंदिर, कांगड़ा

प्रसिद्ध ज्वालामुखी देवी का मंदिर हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में स्थित है। ज्वालामुखी मंदिर 51 शक्ति पीठों में से एक है और भारत में देवी दुर्गा के सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से भी एक है। देवी को ज्वाला जी के नाम से जाना जाता है, क्योंकि हमेशा जगह से आग की लपटें निकलती रहती हैं।

चिंतपूर्णी देवी, हिमाचल प्रदेश

माता चिंतपूर्णी मंदिर भारत में शक्तिपीठों में से एक है, जो हिमाचल प्रदेश में स्थित है। चिंतपूर्णी देवी मंदिर महान हिमालय और शिवालिक पहाड़ियों से घिरा हुआ है और कुल 51 शक्तिपीठों में से 7 प्रमुख स्थानों में से एक माना जाता है।

चामुंडा देवी मंदिर धर्मशाला से 15 किमी की दूरी पर हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में स्थित है। हिमाचल प्रदेश को भारत के कुल 51 शक्तिपीठों में से एक है!

मनसा देवी मंदिर, उत्तराखंड

मनसा देवी का पर्वतीय मंदिर उत्तराखंड राज्य के पवित्र शहर हरिद्वार में देवी मनसा को समर्पित है यह उत्तर भारत की सबसे अधिक देखी जाने वाली और सबसे लोकप्रिय मंदिर में से एक है। यह मंदिर हिमालय की पर्वत श्रृंखला, शिवालिक पहाड़ियों पर एक पर्वत के ऊपर स्थित है।

धारी देवी भारत के उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में श्रीनगर और रुद्रप्रयाग के बीच अलकनंदा नदी के तट पर स्थित एक मंदिर है। मंदिर देवी धारी की मूर्ति के ऊपरी आधे भाग में स्थित है, जबकि मूर्ति का निचला आधा भाग कालीमठ में स्थित है, जहाँ देवी काली के प्रकट रूप में उनकी पूजा की जाती है।

कामाख्या मंदिर, असम

कामाख्या माता का मंदिर असम के गुवाहाटी शहर में नीलाचल की पहाड़ियों पर स्थित 51 शक्ति पीठ मंदिरों में से एक है। कामाख्या मंदिर कामाख्या देवी माँ के एक अन्य रूप को समर्पित है और यह मंदिर भारत मे तांत्रिक के प्रमुख केंद्रों में से एक है।

बम्लेश्वरी देवी मंदिर, छत्तीसगढ़

माँ बम्लेश्वरी माता का मंदिर एक पहाड़ी पर स्थित है जो छत्तीसगढ़ राज्य के डोंगरगढ़ में 1,600 फीट ऊँचा है। डोंगरगढ़ प्रमुख पर्यटक आकर्षण के साथ-साथ जिले के प्रमुख तीर्थस्थल और प्रमुख पूजा का स्थल भी हैं। देवी माँ बम्लेश्वरी मंदिर बड़ी माता बम्लेश्वरी के रूप में प्रतिष्ठित है, जमीनी स्तर पर एक और मंदिर मुख्य मंदिर से लगभग 1/2 किमी की दूरी पर स्थित है जिसे छोटी माता भी कहा जाता है।

दंतेश्वरी मंदिर, दंतेवाड़ा

दंतेश्वरी मंदिर छत्तीसगढ़ राज्य के दंतेवाड़ा शहर में स्थित है और माँ शक्ति के 51 शक्तिपीठ तीर्थों में से एक है। दंतेश्वरी मंदिर उस स्थान पर बना है जहां सती का दांत गिरा था। दशहरा उत्सव के दौरान जंगल या आसपास के गांवों के हजारों जनजाति देवी दंतेश्वरी को श्रद्धांजलि देने के लिए इकट्ठा होते हैं। बस्तर दशहरा उत्सव छत्तीसगढ़ राज्य के प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षण में से एक है।

महामाया मंदिर, बिलासपुर

महामाया मंदिर, दोहरी देवी लक्ष्मी और सरस्वती को समर्पित मंदिर है, जो रतनपुर में स्थित है और 52 शक्ति पीठों में से एक है, मंदिर के अंदर महामाया माता का मंदिर है। वैसे तो सालभर यहां भक्तों का तांता लगा रहता है!

माता चंद्रहासिनी देवी का मंदिर रायगढ़ मे पास चन्द्रपुर मे महानदी के किनारे स्थित है और यह सिद्ध शक्ति पीठों में से एक शक्ति पीठ है।

सप्तश्रृंगी देवी मंदिर, महाराष्ट्र

सप्तश्रृंगी देवी मंदिर महाराष्ट्र के नासिक के पास वाणी में स्थित है। यह मंदिर भारतीय उपमहाद्वीप में स्थित 51 शक्तिपीठों में से एक है। देवी की छवि 18 हाथों से विशाल-लगभग 10 फीट है, जिसमें विभिन्न हथियार हैं और यहा हर साल बड़ी संख्या में भक्त आते हैं।

महालक्ष्मी मंदिर, कोल्हापुर

महालक्ष्मी मंदिर 51 शक्ति पीठों में से एक है, जो महाराष्ट्र के शहर कोल्हापुर में स्थित है। महालक्ष्मी मंदिर की मूर्ति कीमती काले पत्थर से बनी है जिसकी ऊंचाई 3 फीट है और इसका वजन लगभग 40 किलोग्राम है। किरणोत्सव त्योहार सबसे प्रसिद्ध समारोहों में से एक है, जब 31 जनवरी और 9 नवंबर को सूर्यास्त के समय सूर्य की किरणें देवी के पैर छूती हैं।

एकवीरा देवी मंदिर जो लोनवाला के समीप है और जिनकी भारत और नेपाल के विभिन्न हिस्सों में रेणुका माता के रूप में भी पूजा की जाती है!

दक्षिणेश्वर काली मंदिर, पश्चिम बंगाल

दक्षिणेश्वर काली मंदिर पश्चिम बंगाल के कोलकाता के पास दक्षिणेश्वर में हुगली नदी के तट पर स्थित देवी काली का सबसे प्रसिद्ध मंदिर है। दक्षिणेश्वर मंदिर, माँ भवतारिणी को समर्पित है, जो देवी काली के पहलू में से एक है। मंदिर में हर दिन हजारों भक्तों द्वारा माता रानी की पूजा एवं आराधना की जाती है!

कालीघाट काली मंदिर, कोलकाता

कालीघाट का काली मंदिर कोलकाता में स्थित एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है जो हिंदू देवी काली को समर्पित है और 51 शक्तिपीठों में से एक है, यह मंदिर भी हुगली नदी के तट पर स्थित है!

अर्बुदा देवी मंदिर, राजस्थान

अर्बुदा देवी का मन्दिर 51 शक्तिपीठों में से एक है। यह मंदिर अधर देवी और अम्बिका देवी के नाम से प्रसिद्ध है। यह मंदिर एक प्राकृतिक गुफा में प्रतिष्ठित है और यहा माता रानी की पूजा माता कात्यायनी देवी के स्वरूप में की जाती है।

करणी माता मंदिर, बीकानेर

विश्व प्रसिद्ध करणी माता का मंदिर राजस्थान के देशनोक में स्थित है। करणी माता को उनके अनुयायियों द्वारा देवी दुर्गा के अवतार के रूप में पूजा जाता है और मंदिर हजारों पवित्र चूहों के लिए प्रसिद्ध है। भारत में करणी माता मंदिर को चूहों के मंदिर के रूप में भी जाना जाता है!

Durga_Mata_Temple

मदुरै मीनाक्षी मंदिर, तमिल नाडु

मीनाक्षी मंदिर एक ऐतिहासिक हिंदू मंदिर है जो वैगई नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थित है और यह पार्वती के एक रूप मीनाक्षी को समर्पित है तथा मदुरई के प्राचीन मंदिर का केंद्र है!

देवी कन्या कुमारी एक किशोर कन्या के रूप में देवी पार्वती हैं। देवी को श्री बाला भद्र या श्री बाला के नाम से भी जाना जाता है भगवती मंदिर तमिलनाडु में केप कन्या कुमारी में स्थित है!

तारा तारिणी मंदिर, ओडिशा

यह शक्ति पीठ आदिवासी राज्य उड़ीसा में पवित्र तारतारिणी पहाड़ी पर स्थित है। तारातारिणी मंदिर भारत के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है, जो जुड़वां देवी ताराओं को समर्पित है और यहा तारिणी को आदि शक्ति के रूप में पूजा जाता है।

दुर्गा मंदिर, वाराणसी

वाराणसी का प्रसिद्ध दुर्गा मंदिर जिसे मंकी टेम्पल भी कहा जाता है, बनारस, उत्तर प्रदेश के रामनगर में शहर के दक्षिणी भाग में स्थित है, दुर्गा मंदिर माँ दुर्गा को समर्पित है और हर रोज़ हजारों भक्तों को आकर्षित करता है। ब्रह्मचारिणी दुर्गा मंदिर के रूप में जाने जानी वाली यह पवित्र मंदिर नवरात्रि मे काफ़ी भरा रहता है!

शीतला माता मंदिर, बिहार

शीतला माता एक प्रसिद्ध हिन्दू देवी हैं जिनका वाहन गर्दभ बताया गया है। अगम कुआं, पटना मे स्थित शीतला माता एक बहुत ही आकर्षित मंदिर है, एक और शीतला देवी का मंदिर हिमाचल मे ऊना में स्थित है!

शांता दुर्गा मंदिर, गोवा

श्री शांतादुर्गा मंदिर गौड़ सारस्वत ब्राह्मण समुदाय (सारस्वत मंदिर) से संबंधित एक निजी मंदिर परिसर है और सारस्वत ब्राह्मण परिवारों की कुलदेवी है

त्रिपुरा सुंदरी मंदिर, त्रिपुरा

त्रिपुरा सुंदरी एक हिंदू मंदिर है, जो प्राचीन शहर उदयपुर में स्थित है यह अगरतला से लगभग 55 किमी दूर है और ऐसा माना जाता है कि यह देश के सबसे पवित्र हिंदू तीर्थस्थलों में से एक है!

चोट्टानिकारा भगवती मंदिर, केरल

चोट्टानिकारा भगवती माता का यह शानदार मंदिर केरल के परशुराम क्षेत्र में स्थित है जो केरल के सबसे प्रख्यात मंदिरों में से एक है। देवी भगवती को समर्पित यह मंदिर दक्षिण भारत का सबसे अधिक लोकप्रिय मंदिर है और केरल राज्य मे सबसे प्रख्यात भगवती मंदिरो मे से भी एक है, कोडुंगल्लूर भगवती मंदिर, चाकुलथु कावू श्रीभगवती मंदिर भी प्रख्यात है!

Durga_pandal-Pune

चाकुलथु कावू श्रीभगवती मंदिर एक हिंदू मंदिर है, जो देवी दुर्गा को समर्पित है। मंदिर पठानमथिट्टा और अलापुझा जिलों की सीमा में स्थित है। और चाकुलथुकावु पोंगाला मंदिर से जुड़ा एक प्रसिद्ध त्योहार है।

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of